32 C
Kolkata, IN
Wednesday, June 6, 2018
Advertisement
Home देश विदेश काला हिरण शिकार केस की सुनवाई के लिए जोधपुर पहुंचे सलमान ख़ान,...

काला हिरण शिकार केस की सुनवाई के लिए जोधपुर पहुंचे सलमान ख़ान, आज पेशी

काला हिरण शिकार केस में सलमान ख़ान की ज़मानत की कहानी 5 अप्रैल (गुरुवार)  को जोधपुर की सेशंस कोर्ट से शुरू

0
इस सज़ा को सस्पेंड करने के लिए सलमान की ओर से जोधपुर की अदालत में याचिका दायर की गयी थी, जिसकी पहली सुनवाई सोमवार 7 मई को होनी है।
मुंबई। काला हिरण शिकार केस में मिली 5 साल की सज़ा को निलंबित करने के लिए दायर की गयी याचिका की सुनवाई के लिए सलमान ख़ान रविवार की दोपहर जोधपुर पहुंच गये. आज वो अदालत में पेश होंगे!
5 मई को जोधपुर की अदालत ने काला हिरण शिकार मामले में सलमान को 5 साल की जेल और 10 हज़ार रुपए ज़ुर्माने की सज़ा का एलान किया था, जिसके दो दिन बाद उन्हें 7 अप्रैल को ज़मानत मिल गयी थी। सलमान को दो दिन जेल में भी रहना पड़ा। इस सज़ा को सस्पेंड करने के लिए सलमान की ओर से जोधपुर की अदालत में याचिका दायर की गयी थी, जिसकी पहली सुनवाई सोमवार 7 मई को होनी है। सुनवाई के दौरान अदालत में मौजूद रहने के लिए सलमान जोधपुर पहुंचे हैं। सलमान के साथ उनके दोस्त बाबा सिद्दीकी, बहन अलवीरा और बॉडीगार्ड शेरा भी जोधपुर पहुंचे हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक सलमान रविवार शाम तक अपने वकील से मिलेंगे और सोमवार सुबह 8.30 बजे कोर्ट में पेश होंगे।
सज़ा के एलान से ज़मानत तक क्या-क्या हुआ
  • काला हिरण शिकार केस में सलमान ख़ान की ज़मानत की कहानी 5 अप्रैल (गुरुवार)  को जोधपुर की सेशंस कोर्ट से शुरू हुई थी और 7 अप्रैल को जमानत मिलने के साथ पर्दा गिरा, मगर इस दौरान इस कहानी में जो ट्विस्ट्स और टर्न्स आये, वो किसी तेज़ रफ़्तार थ्रिलर फ़िल्म की पटकथा से कम नहीं थे।
  • 5 अप्रैल को जोधपुर की अदालत ने 20 साल पुराने इस केस में सलमान को 5 साल की जेल और 10 हज़ार रुपए ज़ुर्माने की सज़ा का एलान किया था। उस दिन अदालत का समय पूरा होने की वजह से ज़मानत नहीं मिल सकी, जिसके चलते सलमान को गुरुवार की रात जेल में बितानी पड़ी। इस बात की तसल्ली सभी को थी कि 6 अप्रैल यानि शुक्रवार को तो सलमान को हर हाल में ज़मानत मिल जाएगी। मगर, शुक्रवार को जब अदालत में सलमान की बेल पर बहस शुरू हुई तो पासा ही पलट गया।
  • ज़मानत की जो प्रक्रिया सीधी और आसान लग रही थी, वो कानूनी बारीक़ियों में उलझकर रह गयी और पता चला कि सलमान को शुक्रवार की रात भी जेल में गुज़ारनी होगी, क्योंकि जज साहब ने फ़ैसला कल तक के लिए सुरक्षित रख लिया था। सलमान की बेल की दुश्मन वो केस डायरी बनी, जो अदालत में मौजूद नहीं थी।
  • केस की पूरी जानकारी ना होने की वजह से जज साहब ने केस डायरी तलब की और इसका अध्ययन करने के बाद ही फ़ैसला देने का फ़रमान सुनाया। इसे प्रॉसिक्यूशन पक्ष की स्ट्रेटजिक जीत के रूप में देखा गया। अभी एक ट्विस्ट और बाक़ी था।
  • शुक्रवार की रात ही ख़बर आयी कि सलमान के केस की सुनवाई कर रहे जज का तबादला हो गया है। इस ख़बर के बाहर आते ही सलमान के खेमे में हड़कंप मच गया, कहीं ऐसा ना हो कि नए जज केस की स्टडी के लिए और वक़्त मांंग लें। अगर ऐसा होता तो सलमान की बेल लटक जाती और ये वीकेंड भी जेल में गुज़ारना पड़ता। लेकिन, शनिवार को तब राहत महसूस की गयी, जब केस की सुनवाई करने पुराने जज ही पहुंचे और सलमान को लंच के बाद 50 हज़ार के निजी मुचलके पर ज़मानत मिल गयी। सज़ा पर पुनर्विचार याचिका भी स्वीकार कर ली गयी थी।

BY – RIYAZ AHMAD

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here