भारतीय मौसम विभाग की चेतावनी के बाद उत्तर भारत में आंधी-तूफान ने दस्तक दे दी है। राजधानी दिल्ली धूल की चादर से ढक गई है। मौसम विभाग के पूर्व अनुमान के अनुसार सोमवार देर रात दिल्ली में तेज धूल भरी आंधी के साथ करीब 11.00 बजे बारिश शुरू हुई और इस आंधी ने पूरे दिल्ली-एनसीआर को अपनी चपेट में ले लिया। दिल्ली में रात को करीब 70 किमी. प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चलीं।

उत्तराखंड में तूफान ने दी दस्तक, तेज हवाओं-बिजली की आवाज से सहमे लोग

प्रदेश में बीती देर रात बारिश के साथ आए तूफान ने लोगों की नींद उड़ा दी। तेज हवाओं का सिलसिला मंगलवार की सुबह भी जारी रहा। जिससे लोग सहमे-सहमे नजर आए। सोमवार रात करीब सवा बजे बिजली कड़कने की जोरदार आवाज से घरों में सो रहे लोगों की नींद खुली तो बाहर तेज हवाओं के साथ ही बारिश हो रही थी। इस दौरान दून के ज्यादातर इलाकों में बिजली गायब रही। वहीं कई जगह दुकानों पर लगे बोर्ड और सड़कों पर लगे होर्डिंग्स टूटने की सूचना आई तो कई जगह पेड़ टूटकर गिरने की भी खबरें आईं।

तूफान के बाद कई इलाकों में ब्लैकआउट

दिल्ली, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और हरियाणा के कई इलाकों में आंधी आने के बाद बिजली कटौती की खबर आई है। हालांकि इस आंधी-तूफान से अभी तक किसी भी तरह के जान-माल के नुकसान की सूचना नहीं है।

राजस्थान और हरियाणा का हाल

राजस्थान और हरियाणा में आए तेज तूफान से लोग अपने घरों में बंद हो गए हैं। राजस्थान के कई हिस्सों में तेज हवा के साथ रेत की परते उड़ती दिखाई दीं। धूल भरी तेज आंधी ने झुंझुनूं और सीकर को भी अपनी चपेट में ले लिया जिसकी वजह से कई इलाकों में बिजली सप्लाई बाधित हुई है। और कई जगह पर पेड़ और खंभे गिरने की भी खबरें हैं।

वहीं हरियाणा के जींद में गरज के साथ हल्की बूंदाबादी तो बेरी में तेज आंधी और रेवाड़ी में भी तूफान ने रफ्तार पकड़ ली है और पूरे शहर की बिजली गुल हो चुकी है।

मेट्रो की रफ्तार रहेगी कम

आंधी-तूफान की चेतावनी पर दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) भी सतर्क है। मंगलवार को मेट्रो ट्रेनों की रफ्तार 70-90 किलोमीटर प्रतिघंटे की बजाय 40 किलोमीटर प्रतिघंटे ही रहेगी। एलिवेटेड ट्रैक पर चलने वाली मेट्रो की रफ्तार तो और धीमी रहेगी, क्योंकि यहां वैसे ही हवा की रफ्तार तेज होती है। इसे लेकर डीएमआरसी ने दिल्ली-एनसीआर में चलने वाली ट्रेनों को निर्देश जारी कर दिए हैं।

एलिवेटेड ट्रैक पर मेट्रो ट्रेन महज 15 किमी प्रतिघंटे की स्पीड से चलेंगी। यह भी निर्देश जारी किया गया है कि जहां मेट्रो अंडरग्राउंड से एलिवेटेड ट्रैक पर प्रवेश करती है, वहां भी ट्रेन की रफ्तार काफी कम रहेगी। मौसम विभाग की चेतावनी को ध्यान में रखकर मेट्रो ट्रेन व मेट्रो स्टेशनों पर लगातार घोषणाएं की जाएंगी। दुर्घटना से बचने के लिए ये एहतियाती कदम उठाए गए हैं।

 मौसम विभाग ने जारी की थी चेतावनी

भारतीय मौसम विभाग ने सोमवार को चेतावनी जारी की कि उत्तर भारत के कई हिस्सों में मंगलवार को आंधी-तूफान आ सकता है। वहीं 50 से 70 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल सकती है। मौसम विभाग ने अंबर रंग के अलर्ट में बताया कि जम्मू एवं कश्मीर, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली, चंडीगढ़, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, सिक्किम और पश्चिमी बंगाल के कई हिस्सों में मौसम खराब हो सकता है।

मौसम विभाग चार कलर कोड में चेतावनी जारी करता है जो सावधानी के स्तर पर आधारित होते हैं। ग्रीन (कोई कार्रवाई नहीं), येलो (स्थिति पर नजर बनाए रखें), अंबर (सरकारी एजेंसियां खराब मौसम के लिए तैयार रहें) और रेड (एजेंसियां कार्रवाई करें)।

आया नया पश्चिमी विक्षोभ
मौसम विभाग के अतिरिक्त निदेशक मृत्युंजय महापात्रा ने बताया कि जम्मू एवं कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में नया पश्चिमी विक्षोभ आया है। वहीं उत्तरी-पूर्वी राजस्थान, पश्चिम मध्य प्रदेश और हरियाणा पर एक चक्रवात बना हुआ है। इससे उत्तर भारत में हल्की बारिश हो सकती है। हालांकि इस तूफान का प्रभाव दो मई को आए तूफान से कम होगा। उस वक्त आए तूफान ने राजस्थान और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में खूब तबाही मचाई थी और 100 से ज्यादा लोगों की जान चली गई थी।

इन जगहों के येलो अलर्ट
पंजाब, असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, त्रिपुरा, पश्चिमी मध्य प्रदेश, पूर्वी उत्तर प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, कर्नाटक और केरल के तटीय क्षेत्र में तेज हवा संग बारिश हो सकती है। उधर महाराष्ट्र के विदर्भ में लू चलने की आशंका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here