जिला सिद्धार्थनगर में स्थित शोहरतगढ़ क़स्बे में मदरसा अहले सुन्नत नुरुल लतीफ़ के तत्वाधान बीती रात धार्मिक जलसा बनाम मेराजुन नबी का आयोजन किया गया ।

जिस में लखनऊ से आये मौलाना मुफ़्ती कमालुद्दीन ने कहा की अल्लाह हमारा मोहताज नहीं है कि हम उस की इबादत करे बल्कि ये हमारी खुश किस्मती है कि हम इस्लाम धर्म में पैदा हुए ।
महराज गंज से आये मौलाना अताये रसूल ने इस्लाहे मुआशरा के ताल्लूक से खिताब किया जबकि पचपेड़वा बाजार से आये मौलाना जाकिर मिस्बाही ने कहा कि हम दूसरों की नक़ल न करें बल्कि हमारा दीन मुकम्मल है और जिंदगी गुजारने के सारे तरीके हमारे आक़ा ने बता दिया।कार्यक्रम को मौलाना नूर मोहम्मद खालिद मिस्बाही ने भी खिताब किया।
ज़ीनत हलीम बिहार, नफीस निज़ामी बस्ती ,ने नात व् मनकबत पढ़ कर के खूब वाह वाही लूटी । कार्यक्रम की अध्यक्षता सय्यद सुहेल अशरफ साहेब सिद्धार्थनगर ने की।मौलाना अल्हाज अब्दुल्लाह आरिफ सिद्दीकी की क़यादत व् देख रेख में जलसा बड़ा ही कामयाब रहा । अखीर में मदरसे के नाजिम डॉ वाफ़ी खान ने लोगों का शुक्रिया अदा किया ।

By – Riyaz Ahmad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here